इसरों का यह अभियान ला देगा बडी क्रांति, चुनिंदा देशों में होगा शुमार-

इसरों अपने नए और अनोखे आविष्कारों की वजह से अक्सर सुर्खियों में रहता है लेकिन इस बार इसरो कुछ ऐसा करने जा रहा है जिसे दुनिया के कुछ मिने चुने देश ही करने की सोच सकते है इसरों कुछ ऐसे उपग्रह बना के तैयार करने जा रहा है जिनसे पृथ्वी की तमाम वस्तुओं में अंतरिक्ष से ही देखकर उनमें भेद किया जा सकता है।
इसरों ने बताया है कि विशिष्ट प्रकार के अर्थ ऑब्जरवेशन सेटेलाईट बनाने की तैयारियों में लगा हुआ है। इन उपग्रहों को हाइपरस्पेक्ट्रल इमेजिंग सेटेलाईट या फिर हिस्पेक्स भी कहते है इन्हें एक विशेष चिप की मदद से तैयार किया गया हैं इसरो के प्रवक्ता ने कहा है कि यह चिप जिसको तकनीकी भाषा में ऑप्टिकल इमेंजिग डिटेक्टर ऐरे कहते है
इसको बनाने के लिए जरूरी प्रशिक्षण चल रहे है लेकिन वह कब तक तैयार हो पाएगी यह बता पान मुश्किल है। उन्होने आगे बताया की इसरों के सामने इन उपग्रहों को बना पाना एक बडी चुनौती हागी क्योंकि इस तरह के उपग्रह पृथ्वी से लगभग 630 किलोमीटर की दुरी से भी यहा मौजुद वस्तुओं के 55 विभिन्न रंगों की आसानी से पहचान कर सकते है।