बिहार के बाढ़ प्रभावित इलाकों के दौरे पर PM मोदी, 500 करोड़ की मदद का एलान-

पड़ोसी देश नेपाल और बिहार में लगातार भारी बारिश के कारण आई बाढ़ से प्रदेश में मरने वालों की संख्या बढ़कर 418 हो गयी है. आज राज्य में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा किया. पीएम ने बिहार को 500 करोड़ रुपए की मदद का भी एलान किया है. बिहार में बाढ़ से 19 जिलों की एक करोड़ 61 लाख 67 हजार आबादी प्रभावित हुई है.

बाढ़ से प्रदेश के 19 जिले किशनगंज, अररिया, पूणर्यिा, कटिहार, पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, दरभंगा, मधुबनी, मुजफ्फरपुर, सीतामढी, शिवहर, समस्तीपुर, गोपालगंज, सारण, सीवान, सुपौल, मधेपुरा, सहरसा और खगड़िया प्रभावित हैं.

इसमें सबसे अधिक अररिया में 87 लोग, सीतामढ़ी में 43, कटिहार में 40, पश्चिमी चंपारण में 36, मधुबनी में 28, किशनगंज में 24, दरभंगा में 26, मधेपुरा  में 21, पूर्वी चंपारण एवं गोपालगंज 1919, सुपौल में 16, पूर्णिया में 9, मुजफ्फरपुर, खगड़िया और सारण में 77, शिवहर और सहरसा में 44 और समस्तीपुर में एक व्यक्ति की मौत हुई है.

एनडीआरएफ की 28 टीम 1152 जवानों एवं 118 नौकाओं के साथ, एसडीआरएफ की 16 टीम 446 जवानों एवं 92 नौकाओं के साथ तथा सेना की 7 कालम 630 जवानों और 70 नौकाओं के साथ बचाव एवं राहत कार्य में जुटी हुई है. राज्य सरकार द्वारा बाढ़ में घिरे लोगों को सुरक्षित निकाले जाने का कार्य युद्ध स्तर पर किया जा रहा है.

अबतक 781657 लोगों को बाढ़ प्रभावित इलाके से सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया है और 624  राहत शिविरों में 156560 व्यक्ति शरण लिए हुए हैं. बाढ़ राहत शिविर के अतिरिक्त वैसे प्रभावित व्यक्ति जो राहत शिविरों में नहीं रह रहे हैं उनके लिए सामुदायिक रसोईघर चलाये जा रहे हैं. इस तरह कुल 1565 सामुदायिक रसोईघर चलाए जा रहे हैं, जिसमें 344137 लोगों को भोजन कराया जा रहा है.