राम रहीम के पूर्व बॉडीगार्ड का खुलासा, सैकड़ों लोगों की हत्या कर डेरे के बाग में लाशें दफनाई गई

बलात्कारी गुरमीत राम रहीम को तो 20 जेल की सज़ा मिल गई लेकिन सवाल है कि हत्यारे राम रहीम का हिसाब कैसे होगा। कैसे मिलेगा डेरे के पूर्व मैनेजर फकीरचंद और अख़बार के संपादक रामचंद्र छत्रपति को इंसाफ़। हालांकि हत्याकांड के दोनों केस में राम रहीम अभी तक आरोपी है लेकिन इस पाखंडी बाबा के ख़िलाफ़ सात समंदर पार से एक गवाही ऐसी है, जो रौंगटे खड़े करती है। ये गवाही किसी और की नहीं बल्कि राम रहीम के पूर्व बॉडीगार्ड की है जिससे पता चलता है कि सिरसा के डेरे के भीतर बाबा मर्डर की फैक्ट्री चलाता था।

ये बाबा इतना ख़तरनाक था जिसने इंसानों यानी सेवकों-साध्वियों को सुधारने के नाम पर अपने गुर्गों को कत्ल की सुपारी दे दी थी। बकायदा मर्डर के लिए डेरे के भीतर एक क़त्लखाना बना था जिसे शैतान राम रहीम ने मानव सुधार केंद्र का नाम दिया था।

‘सिरसा का डेरा श्मशान था’

राम रहीम की गुफा के पास एक कमरा था जिसमें एक ही दरवाज़ा था और उसकके विरोधियों के लिए ये मौत का पता था जहां राम रहीम के विरोधियों को पकड़कर लाया। फिर टॉर्चर और मारपीट होती। इसके बाद विरोधियों को गोली मारी जाती और फिर उन्हें वहीं दफना दिया जाता। राम रहीम के विरोधियों के लिए ऐसे ही मौत आती  और ये खुलासा किया है राम रहीम के पूर्व बॉडीगार्ड बेअंत सिंह ने। उन्होंने कहा कि राम रहीम एक हत्यारा था और सिरसाका डेरा शमशान जहां नाफ़रमानी के बदले मर्डर की गारंट थी। डेरे के भीतर नरसंहार के सबूत दफन हैं और डेरे के बाग की मिट्टियों में सैकड़ों लोगों की लाशें दफन हैं।

आख़िर डेरे के भीतर और बाहर राम रहीम ने कैसे-कैसे लाशें बिछाईं और क्यों?

बेअंत सिंह ने बताया, जो लोग डेरे या बाबा को स्वीकार नहीं करते हैं या खिलाफ बोलता है या ये पता चल गया किबाबा का ब्लैकमनी हैउसको मारना शुरू कर देते थे। इनको मारते कहां थेएक मानव सुधार कमरा हुआ करताथा। पुराने डेरे में गुफा के पास पीछे एक रूम थाउस रुम की कोई विंडो नहीं थी एक गेट था..उसका नाम था मानवसुधार कमराउसी में रखते थे और मारते थे और नजदीक पड़ती थी भाखड़ा नदीउसमें उसकी बॉडी फेंक दियाकरते थेउसका फेस खराब कर देते थे

बेअंत सिंह ने देखा और सुना कि राम रहीम संत में चोले में अव्वल कसाई था। फिलहाल बेअंत सिंह लंदन में रहते हैं और उनके कई खुलासे राम रहीम के असली चेहरे को बेनकाब करता है। राम रहीम और उसके गुर्गों का ख़ूनी खेल बरसों से जारी था। लंदन में रहने वाले और बाबा के पूर्व बॉडीगार्ड के मुताबिक पहले राम रहीम विरोधियों को डेरे के बाहर ठिकाने लगाता था।